बिहार के10 ऐसे स्थान जहाँ आप ले सकते है प्राकृतिक का आनंद और पायेंगे एक मनोरम दृश्य

Entertainment

राजगीर : एक परिचय 

राजगीर बिहार का वह जगह जो प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण पहाड़ों के बीच एक उभरता हुआ शहर है हमारे बिहार का सौंदर्य है और यह हमारे बिहार की शोभा को अग्रसर करता है यह वही राजवीर है , जहां भगवान बुद्ध साधना किए थे भगवान बुद्ध की साधना स्थल भी है और उसी मगध में है जहां चंद्रगुप्त जैसे अति शक्तिशाली और महान शासक का जन्म हुआ था , यह वही मगध है जहां चाणक्य जैसे महान विद्वान अपने शिष्य की शिक्षा दिए थे | राजगीर एतराज गिरीश राजगीर एक धार्मिक स्थल के साथ-साथ ऐतिहासिक स्थल भी है और यहां प्राकृतिक छटा निखरती है पटना से 100 किलोमीटर दूर स्थित दक्षिण पूर्व में पहाड़ियों और घने जंगलों के बीच बना राजगीर , यहां हिंदुओं का जैन का और बौद्ध धर्म का धार्मिक स्थल है अगर बात करें तो खास तौर पर इसका काफी पुराना संबंध रहा है | भगवान बुद्ध अपना प्रथम  उपदेश राजगीर मे ही दिए थे | यहां तक कि भगवान बुद्ध की पहली बौद्ध संगीति राजगीर में ही बुलाई गई थी पांच पहाड़ियों से गिरा वन्य जीव अभ्यारण चर्चा प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण प्राकृतिक छटा निकलती हुई इस पावन धरती का नाम राजगीर जो कि बिहार में स्थित है और बिहार की गौरव को लगातार बढ़ा रहा  है यहां हाल में ही बिहार के मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के द्वारा अनेक प्रकार के महानतम कार्य किए गए हैं | जिसे देखने के लिए न केवल भारत वर्ष के व्यक्ति अपितु विदेश के व्यक्ति भी आते हैं जिससे हमारे बिहार की गौरव और भी अधिक बढ़ जाती है बिहार में अनेक प्रकार के पर्यटन स्थल बनाए गए हैं ग्लास ब्रिज | सोनभंडार आपको राजगीर में ही देखने को मिलता है

सोनभंडार : एक परिचय 

सोनभंडार जिसके बारे में काफी पुराना इतिहास है उसके बारे में जो इतिहास है वह राजाओं से संबंधित है यह स्थान जरासंध का सोने का खजाना था उसके बारे में आज भी कहा जाता है कि वहां सोना का फंडा छिपा हुआ है अर्थात सोना काफी ज्यादा मात्रा में छिपा हुआ है लेकिन आज तक दुनिया की कोई भी ताकत उस सोनभंडार को तोड़ नहीं पाया, एक बार अंग्रेज अधिकारीयों के द्वारा इसे बम से उड़ाने का प्रयास किया गया लेकिन वो भी असफल रहा | (इसके पीछे का कारण है कि पहले के राजा – महाराजा किसी भी चीज को बनाने के लिए समय के साथ साथ काफी सारा धन भी खर्चा करते थे और पहले के अधिकारी लोग किसी भी प्रकार का भ्रस्टाचारनहीं करते थे क्योंकि उन्हें डर होता था , एकिन अब पहले वाली बात रह ही नहीं गयी |अब बड़ा से बाद मकान भी १ महीने में बनकर तैयार हो जाता है ) | अब इस बात में कितनी सच्चाई है उसका प्रमाण आज तक कहीं भी देखने को नहीं मिला है शांति स्तूप जोकि बौद्ध धर्म का प्रमुख सूचक है जो बिहार राज्य में स्थित है इन सभी कारणों की वजह से आजकल पर्यटकों का आकर्षण का मुख्य केंद्र बिहार है हाल में ही नीतीश कुमार के द्वारा Wild Nature Safari का उद्घाटन किया गया है उसमें अनेक प्रकार के जंगली जानवर शेर , हिरण , चीता , तेंदुआ इत्यादि को लाया गया है इसमें घूमने के लिए शीशे की गाड़ी के साथ भ्रमण करना होता है और सीसे की गाड़ी में घूम कर आप Wild Nature Safari का आनंद ले सकते हैं यह सब बातें यहीं तक खत्म नहीं हो जाती इसके अलावा दिगंबर जैन मंदिर , गर्म जल के झरने , विपुलाचल पर्वत , आचार्य महावीर प्रीति दिगंबर जैन ,  सरस्वती भवन , बिंबिसार का बंदी गृह , सप्तपर्णी गुफा , मनिया स्मार्ट , गिरियक स्तूप , राजगीर का मलमास मेला , जीव कर्म , तपोधन हिंदू स्थल , जरासंध का अखाड़ा , लक्ष्मी नारायण मंदिर , विश्व शांति स्तूप , रणभूमि जहां भीम और जरासंध महाभारत का युद्ध लड़े थे , मनिहार में जिसका इतिहास पहली शताब्दी का है कनाडा टाइम जहां बुद्ध स्नान लेते थे एक सभी के सभी प्रमुख स्थल राजगीर में स्थित है |

बिहार का ककोलत जल प्रपात : एक परिचय 

बिहार के अनेक पर्यटक स्थलों में से एक है ककोलत का जलप्रपात जो कि बिहार के शोभा को गौरवान्वित करता है बिहार के नवादा जिला में स्थित है बिहार का सबसे बड़ा वाटरफॉल ककोलत जलप्रपात है इसका पानी काफी ज्यादा शुद्ध और ठंडा होता है इसका पानी पहाड़ों के बीचो बीच सैकड़ों फिर ऊपर से गिरता है जो कि इस जलप्रपात के शोभा को और अधिक बढ़ा देता है इसमें लोग नहाने के लिए और अपनी छुट्टियां मनाने के लिए जाते हैं सैकड़ों किलोमीटर जंगल के बीच यह जलप्रपात है इसके बारे में कहा जाता है कि इसमें पहाड़ों पर से कहां से पानी आता है इसका पता बड़े बड़े वैज्ञानिक तक नहीं लगा सके और यह एक राज बना हुआ है इन सभी झरनों का पानी पहाड़ से नीचे एक तालाब में मिलता है जो कि पत्थर के माध्यम से होता हुआ जाता है इसका पानी जंगलों में छोटे छोटे पत्थरों के रास्ते से जाने पर एक मनोरम दृश्य प्राप्त होता है अगर आप बिहार भ्रमण पर निकले हैं तो एक बार बिहार का ककोलत जलप्रपात को अवश्य देखें और उसका आनंद अवश्य लें यह प्रकृति का एक मनोरम दृश्य है

1 thought on “बिहार के10 ऐसे स्थान जहाँ आप ले सकते है प्राकृतिक का आनंद और पायेंगे एक मनोरम दृश्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *